प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ. Blogger द्वारा संचालित.
प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ एक अंतर्राष्ट्रीय मंच है जहां आपके प्रगतिशील विचारों को सामूहिक जनचेतना से सीधे जोड़ने हेतु हम पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं !

,,अल्लाह करे वोह कामयाब हो ,चाँद पर गए यान से टूटे सम्पर्क फिर से स्थापित हों ,हमारे देश के वेज्ञानिकों की मेहनत रंग लाये ,कामयाब हो

रविवार, 8 सितंबर 2019

जो भी आस्तिक है ,सभी जानते है ,अल्लाह की मर्ज़ी के बगैर एक पत्ता भी नहीं हिल सकता ,,ईश्वर को ,भगवान को ,जीसस को जो मानते है ,वोह भी जानते है ,के ईश्वरीय शक्ति के बगैर ,एक पत्ता भी नहीं हिल सकता ,,लेकिन अगर कोई गुरुर करे ,तकब्बुर करे ,में ही इसे,,, सब कुछ कर रहा हूँ ,में ही ऐसा करूँगा ,,का उसे गुरुर हो ,,तो टूटकर बिखरता ज़रूर है ,,दोस्तों में इसरो वैज्ञानिको की गुणवत्ता पर गर्व करता हूँ ,उनकी पीठ थपथाता हूँ , अल्लाह के करम से ,भगवान की मर्ज़ी से ,इन वैज्ञानिकों ने देश में ,एक ऐसे यान को बनाकर ,चाँद पर भेजने की कामयाब कोशिश की जिसे देश ने ही नहीं ,,,विश्व ने भी देखा है ,लेकिन दोस्तों,, आखरी में अचानक ,हमारे वैज्ञानिको की इन कोशिशों पर ब्रेक लग गया ,अल्लाह से ,भगवान से दुआ है , के हमारे देश के स्वाभिमान ,अभिमान बने इन इसरो वैज्ञानिकों की कोशिश ,,हौसला असफल न हो , वोह जल्दी कामयाब हों ,अल्लाह ,भगवान ,,इस अभियान में हमे कामयाब करे ,इस अभियान में ही नहीं,, हर अभियान में ,,हमे कामयाब करे ,,,दोस्तों छोटा मुंह बढ़ी बात ,जिस देश में आस्थाओं के नाम पर वाद विवाद हो ,जिस देश में सबकी अपनी अपनी आस्थाये हो ,जिस देश के लोग ईश्वरीय शक्ति ,अल्लाह ,भगवान ,जीसस ,,वाहेगुरु की शक्ति से ही सभी कुछ अच्छा बुरा होना स्वीकार करते है ,पूजते है ,,पाठ पढ़ते है ,,नमाज़ पढ़ते है ,उस देश में इतने बढे अभियान में ,,मीडिया ने जो गुरुर ,,जो तकब्बुर दिखाया ,,मीडिया ने जो में ,,में,, करके ,ईश्वरीय शक्ति का अपमान किया ,भगवान की मर्ज़ी से ,ईश्वर की मर्ज़ी से ,,अल्लाह की मर्ज़ी से इंशाअल्लाह चाँद पर हमारी फतह होगी ,इन अल्फ़ाज़ों को हमारे मिडिया ने गायब कर ,,एक गुरुर ,एक तकब्बुर ,एक रावण सोच ,एक फिरओन की सोच ,,बताने की कोशिश की , मुझे पता नहीं इसरो के वैज्ञानिकों की तकनीक में क्या कमी रही ,,अल्लाह करे वोह कामयाब हो ,चाँद पर गए यान से टूटे सम्पर्क फिर से स्थापित हों ,हमारे देश के वेज्ञानिकों की मेहनत रंग लाये ,कामयाब हो ,,, हम विश्व के वैज्ञानिक गुरु बने ,,हमारे देश में जितनी भी आस्थाये है , इबादत घर है ,वहां दुआएं होना चाहिए मस्जिदों में इस कामयाबी के थोड़ी दूर नाकामयाब हो जाने को फिर से कमयाबी की दुआओं के साथ ,,मस्जिदों में इबादत हो ,, मंदिरों में विशिष्ठ पूजा हो ,,गिरजाघरों में जीसस से दुआ हो ,वाहे गुरु से दुआओं की दरख्वास्त हो ,पीर ,,फ़क़ीर ,क़ाज़ी ,,मुफ्ती ,,साधु ,संत ,पुजारी ,पादरी ,,गुरुग्रंथ साहिब जो भी हो सभी इस देश की कामयाबी के लिए गुरुर को ,अहंकार को एक तरफ रखकर दिल से दुआएं करे ,मीडिया के अहंकार ,,में में ,जो अललाह ,ईश्वर को हमेशा बुरा लगा है ,इस अहंकार ,इस में में ,,रावण जैसा महाज्ञानी ,,फिरओन जैसा बादशाह खत्म हो गया ,उनका अहंकार खत्म हो गया ,तो फिर मिडिया ने कैसे सोच लिया के ईश्वर ,,अल्लाह जो देश की ही नहीं विश्व की आस्थाओं की ऐसी ताक़त यही , जहाँ यह मानयता है ,ईश्वर ,अल्लाह की मर्ज़ी के बगैर कुछ भी सम्भवं नहीं तो फिर ,यह सब में में ,में में के अहंकार से कैसे सम्भव हो सकता था , जो होता है , ईश्वर , अल्लाह की मर्ज़ी से होता है ,हम लोग तो सिर्फ एक माध्यम है , अल्लाह ,ईश्वर के फैसलों को लागू करने वाले तो फिर जनाब ,यह कैसे सोच लिया के अल्लाह ईश्वर के फरमान का तिरस्कार करके हम यह कामयाबी हांसिल कर लेंगे ,लेकिन इंशा अल्लाह ,, अल्लाह के हुक्म से ,भगवान की मर्ज़ी से हम इबादत करे ,,कोशिश करे ,,दुआ करे ,, हम जहाँ भटके है ,वहीँ से फिर कामयाब होंगे ,जल्दी ही अल्लाह ,भगवान हमे अच्छी खबर देगा ऐसी दुआए ,ऐसी उम्मीद हमे रखना ही होगी ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

5 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' 8 सितंबर 2019 को 9:47 am  

आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल सोमवार (09-09-2019) को    "सोच अरे नादान"    (चर्चा अंक- 3453)   पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Alaknanda Singh 9 सितंबर 2019 को 3:08 pm  

चंद्रयान के व‍िक्रम लैंडर सें संपर्क करने की कोश‍िश हो रही है अकेला साहब

Sagar 19 सितंबर 2019 को 3:57 pm  

वाह बेहतरीन रचनाओं का संगम।एक से बढ़कर एक प्रस्तुति।
Bhojpuri Song Download

Duanamaz.com 3 मार्च 2020 को 12:51 pm  

Azan Ke Baad Ki Dua अजान के बाद की दुआ हिंदी में Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi : अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु...
azan-ke-baad-ki-dua in hindi

Duanamaz.com 3 मार्च 2020 को 12:55 pm  

History of islam जानिए इस्लाम का इत्तिहास हिंदी में History of islam in Hindi : अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु दोस्तों हम्मे से कई ऐसे...
history-of-islam in hindi

टिप्पणी पोस्ट करें

About This Blog

भारतीय ब्लॉग्स का संपूर्ण मंच

join india

Blog Mandli

  © Blogger template The Professional Template II by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP