प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ. Blogger द्वारा संचालित.
प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ एक अंतर्राष्ट्रीय मंच है जहां आपके प्रगतिशील विचारों को सामूहिक जनचेतना से सीधे जोड़ने हेतु हम पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं !

माधोपुर में थानेदार फुल मोहम्मद को ज़िंदा जलाया

गुरुवार, 17 मार्च 2011

राजस्थान सरकार और यहाँ की कानून व्यवस्था जिंदाबाद हे यहाँ हत्या के आरोपी पकड़े नहीं जाते हें और भीड़ द्वारा एक थानाधिकारी को जीप सहित ज़िंदा जला कर राख क्र दिया जाता हे लेकिन अधिकारी हैं के अपनी ज़िम्मेदारी ही नहीं लेते .

राजस्थान में सवाईमाधोपुर में पिछले दिनों फरवरी में एक महिला दाखा बाई की निर्मम हत्या कर दी गयी थी इस हत्या का मुकदमा  मान टाउन थाने में दर्ज किया गया स्थानीय लोग अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग करते रहे लेकिन सरकार के अधिकारी इस तरफ से बेखबर रहे दिखावटी कोशिशों में पुलिस नाकाम थी और आज सवाईमाधोपुर में इस मामले में भीड़ एकत्रित हुई एक युवक ने हत्या के आरोपियों को पुलिस द्वारा नहीं पकड़े जाने पर पहले आत्मदाह की चेतावनी दी और फिर उसने आत्मदाह कर डाली बस थोड़ी देर में इस युवक की मोंत से मामला और भडक गया यहाँ भीड़ उत्तेजित हो गयी पुलिस जवान बिना किसी तय्यारी के सीधे भीड़ को नियंत्रित करने जा पहुंचे बस भीड़ ने आव देखा ना ताव और पुलिस कर्मियों की जीप में बेठे मान टाउन थानाधिकारी फुल मोहम्मद को जीप सहित ज़िंदा जला दिया इन थानाधिकारी की हिफाजत के लियें साथ लाये गये सभी पुलिस कर्मियों ने दोड़ लगाई और पथराव से घायल होने के बाद अपनी जान बचाई लेकिन पुलिस कर्मियों ने इस तरह से खुद की मोजुदगी में खुद के थानाधिकारी को जिंदा जलता देख कर सरकार और पुलिस की इज्जत गवाई . राजस्थान का सवाईमाधोपुर इन दिनों राज्य का द्बसे संवेदन शील और चर्चित जिला हो गया हे यहाँ के केंद्र में मंत्री हे , सरकार में मंत्री हें और हालत यह हें के कई आई पीएस और कई आई ऐ एस अधिकारी बने बेठे हें अब राजस्थान सरकार इस मामले से केसे निपटे उसकी समझ में नहीं आ रहा हे . 


राजस्थान में इस हत्याकांड के बाद पुलिस हत्याकांड के किस्से ने राजनीति गरमा दी हे य्हना भाजपा ने राज्य में कानून व्यवस्था को मखोल बन देने का आरोप लगते हुए मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से इस्तीफे की मांग की गयी हे जबकि मुस्लिम संगठनों ने एक मुस्लिम थानाधिकारी को धार्मिक परम्पराओं के खिलाफ जिंदा जला देने की घटना को  गंभीरता से लेते हुए इस पर अफ़सोस जताया हे अब कल तक तो यह घटा राजनीती का एक बढ़ा रूप ले लेगी इसीलियें बिना किसी लाग लपेट के यह घटना आपके सामने पेश हें . अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

भारतीय ब्लॉग्स का संपूर्ण मंच

join india

Blog Mandli

  © Blogger template The Professional Template II by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP