प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ. Blogger द्वारा संचालित.
प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ एक अंतर्राष्ट्रीय मंच है जहां आपके प्रगतिशील विचारों को सामूहिक जनचेतना से सीधे जोड़ने हेतु हम पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं !

महापोर विदेशों की नसीहत से भी नहीं सुधरीं

गुरुवार, 24 मार्च 2011


महापोर विदेशों की नसीहत से भी नहीं सुधरीं  वोह पहले फ्रांस और अब अबुधाबी की यात्रा से वापस आई हे उन्होंने ओमान में सडकों पर कांच जेसी सफाई जानवरों से मुक्त सडक को देख कर खुद को कोटा की इस बदरंग व्यवस्था का ज़िम्मेदार नहीं माना हे उन्होंने बात जनता पर डाल दी हें उनका कहना हे के कोटा की जनता अगर कोटा को अपना शहर माने तो यहाँ ऐसी व्यवस्था हो सकती हे इधर कोटा के विधायक ओम बिरला य्हना की व्यवस्था पर जम कर बरसे हें .

जी हाँ दोस्तों कोटा की महापोर जिन्होंने कोटा में इंटरनेट पर जनता से जुड़ने के लियें माई कोटा के नाम से एक ब्लॉग जारी किया था जिससे जनता को जोड़ने की बात कही गयी थी लेकिन जब उपलब्धियों के नाम पर जीरो रिजल्ट रहा तो जनता की शिकायतों का सामना नहीं कर पाने के कारण महापोर डॉक्टर रत्ना जेन ने खुद ही अपने इस माई कोटा से मुंह मोड़ लिया और बीच में ही इस माई कोटा को लटका कर रख  दिया वोह इस शहर को सुधरने के नाम पर सूरत,फ्रांस और न जाने कहाँ कहाँ गयीं लेकिन नतीजे के नाम पर सिफर रहा हे महापोर रत्ना जेन ने विदेश यात्रा से वापस कोटा लोटते ही शहर की साफ़ सफाई के बारे में जानकारी नहीं ली उन्होंने तो सबसे पहले अपने एशो आराम के लियें आदमकद महंगी गाडी नगर निगम के खर्चे से कल खरीदी हे जबके निगम के पास पहले से ही कई गाड़ियाँ मोजूद हें और नई गाडी खरीदने का जनता और विपक्ष विरोध करते रहे हें निगम अभी कर्जदार हे फिर भी इस तरह की फ़िज़ूल खर्ची जनता पर बोझ ही कही जा सकती हे . खुद महापोर ने ओमान की सडकें देख कर हेरानी जताई हे के वहां की सफाई और जानवरों मुक्त छोड़ी सडकें आदर्श व्यवस्था हे फिर महापोर यह व्यवस्था कोटा में क्यूँ लागू नहीं कर पा रही हें शर्मनाक बात हे .


इधर कोटा की जगह जगह खुदी सडकों और आवारा मवेशी की दुर्घटनाओं से तंग जनता का दर्द जब महापोर और कोटा नगर निगम ने नहीं समझा तो कोटा के विधायक ओम बिरला ने इस मामले को दमदारी से राजस्थान विधानसभा में उठाया हे लेकिन कोटा के पास और सरकार के पास कोटा में इस व्यवस्था को सूधारने के लियें कोई भी योजना नहीं हे इसलियें महापोर का माई कोटा तो लुट रहा हे लोगों और माई कोटा का नारा देने वाली महापोर सरकार तमाशबीन बनी हे यारों ....... . अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

भारतीय ब्लॉग्स का संपूर्ण मंच

join india

Blog Mandli

  © Blogger template The Professional Template II by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP