प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ. Blogger द्वारा संचालित.
प्रगतिशील ब्लॉग लेखक संघ एक अंतर्राष्ट्रीय मंच है जहां आपके प्रगतिशील विचारों को सामूहिक जनचेतना से सीधे जोड़ने हेतु हम पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं !

आप सभी को दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएं।

बुधवार, 18 अक्तूबर 2017


मन के अंधियारे को दूर भगाएं
चलो प्रेम का दीप  जलाएं

साथ चले न कोई जो तेरे
खुद को मन का साथी बना ले
असफलता से डर मत पगले
प्रयास के पथ को गले लगा ले

कोशिश की हार नही होती है
हर दिल मे ये विश्वास जगाएं
मन की अँधियारे को दूर भगाएँ
चलो प्रेम का दीप जलाएं

क्या तेरा है क्या मेरा है
ये जग दो दिन का बसेरा है
सद्कर्म किये जा पगले
हंस कर तू मिल सब से गले

मन का गुलाब सदा  ही रहे खिला
संघर्ष कांटे है उनका भी संग निभाएँ
मन के अंधियारे को दूर भगाएँ
चलो प्रेम का दीप जलाएं

बिना भाव  के मन पाषाण है
सबके कल्याण में तेरा भी कल्याण है
जहाँ भी प्रेम से मन सिंचित हो गया
धीर विश्वास भी वहीं पल्लिवत हो गया

रूठें न  कभी  भी जीवन मे अपने
भौतिक दौलत  भले ही कम हो जाये।
मन के अंधियारे को दूर भगाएँ
चलो प्रेम का दीप जलाएं



3 comments:

Abhilasha 23 अक्तूबर 2018 को 11:42 am  

बहुत ही सुन्दर रचना

Unknown 18 दिसंबर 2018 को 12:57 pm  

The appearance of Connectivity Issues or “Connection Error in Binance account
Are you facing connectivity issues or connection error in Binance? When you face connection errors, you are unable to certain activities on Binance. To fix all the connectivity issues, you can dial Binance Support Number. 1-888-764-0492 and avail the finest solutions to resolve your queries. The professionals work nonstop and know all the means and methods to fix the errors in Binance. You can rely on their Binance services as they deliver out-of-the-box resolutions.

jerrysproductreviews 31 अगस्त 2019 को 2:49 am  

I think this is a poem that you wrote. It's lovely and has a lot of meaning. cubii reviews 2019

एक टिप्पणी भेजें

About This Blog

भारतीय ब्लॉग्स का संपूर्ण मंच

join india

Blog Mandli

  © Blogger template The Professional Template II by Ourblogtemplates.com 2009

Back to TOP